जंग जीवन की

Hello friends,

Life is a journey and we live this in phases. We have to face up and downs at various points. What I think about life, my feelings are here in the form of Hindi poem. I hope you like it.

Hindi Poetry

Jang Jeevan Ki ( जंग जीवन की)

साँसें चल रही है तो उम्मीद अभी भी बाकी है।
हारी नहीं हूँ मैं, कोशिश अभी भी जारी है।

माना कि मुश्किलों भरी है राह मेरी,
पर ढिगा नहीं है विश्वास मेरा, जंग अभी भी जारी है।

फिर उठूँगी गिर कर भी मैं, लड़खड़ाते क़दमों से भी,
कोई हो ना हो साथ मेरे पर ज़िन्दगानी अभी भी बाकी है।

भले ही जल गई हो लकड़ियाँ मेरे चूल्हे की,
पर उनकी राख अभी भी बाकी है।

जख्म हरे कर जाते है कुछ घाव पुराने भी,
आँखों में नमी हो भले ही पर होठों पर मुस्कान अभी भी बाकी है।

You can also read here.

Zindagi ka Safar”

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/06/06/zindagi-ka-safar/

Vajood Jindagi ka”

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/05/30/vajood-jindagi-ka/

उम्मीद

ना जाने क्यूँ आज सब कुछ धुआँ धुआँ सा लग रहा है।

अश्क दरियां सी और मन सागर सा भरा लग रहा है।

ऐसा नहीं है कि हम जानते नहीं उन्हें,

पर फिर भी न जाने क्यूँ उनके सजदे में ये सिर झुक रहा है?

सोच की गहराइयों पर भी उनका कब्ज़ा है,

ख्याबों की उड़ान पर भी कोई अनदेखा पहरा है।

फिर भी सब जानते हुए भी ये दिल गुस्ताख़ी कर रहा है।

बदल जायेगे वो हर पल ये इबादत कर रहा है।

इसी उम्मीद में कि शायद एक दिन वो समझ जायेगें,

और इस वीराने में भी उम्मीदों के फूल अपनी खुशबू फैलायेगे।

बहानें

ना करने के बहानें ढूंढों तो एक नहीं हज़ार मिल जाएगें।

और अगर करने जाओ तो छोटे छोटे तिनके भी रोड़े अटकायेगे।

तो क्या करे, हार मानकर बैठ जाए?

या झकझोरे अपने विश्वास को और सब भुलाकर आगे बढ़ते जाये।

रोज गिरे, रोज उठे पर मरने ना दें अपने एहसास को।

कर सकते है और हो भी जायेगा बस छोड़े अपने डर और डर से पैदा होने वाले हर अविश्वास को।

फिर यही रास्ता अपनी मंज़िल की राह खुद दिखलाएगा।

और आत्मविश्वास का सूरज हर अँधेरे को चीरता हुआ अपनी ही रोशनी से जगमगाएगा।

अधूरे सपने।

रंग वो होते है जो ज़िंदगी को खुशियों से भर दे।

रंग वो होते है जो रोते हुए को हँसने पर मजबूर कर दे।

पर क्या हो जब जीवन के रंग ही बदरंग हो जाए?

और हम बस हाथों में ब्रश लिए इंतज़ार करते रह जाए।

सुना था कहीं, कलाकार मन कभी मरता नहीं है।

फिर उठता है और कोशिश करता है।

आज फिर उसने नयी कोशिश की थी,

हाथों में यादों का पिटारा लिए, ज़िंदगी में रंग भरने निकली थी।

आज वो फिर हिम्मत करके अपने अधूरे सपनों को पूरा करने चली थी।

#Day15 Optimism is a Hope!

#BlogchatterA2Z #A2Zchallenge #Day15 #Week3

Welcome Back!!!

If we believe we can do, we will manage to do it definitely.#Deepikawrites

Optimism is a hope & a belief of we can do.

Whatever the situation, don’t make any confusion for undo & redo.

Less expect and work more, helps to focus on the positivity.

Optimism is the practice to be hopeful & Ignore the negativity.

It is also a choice to think about the positives.

It reduces stress, fears and all the negatives.

An optimistic person always makes the aura positive and live.

Everyone wants to feel those energies and takes a dive.

Positivity changes your thinking and attitude.

Once you experience the charm, you will forget about another substitute.

It is a lively feeling, make a habit.

It works in all the situations on the planet or an orbit.

Optimism is a hope and a belief of we can do.

Whatever the situation, don’t make any confusion for undo & redo.

I hope you like today’s poem. Share your views in the comment section. I will catch you later in the next one.

#Day14 “A New Beginning!”

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/04/15/day14-a-new-beginning/

#Day13 “Mother’s Love!”

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/04/15/day13-mothers-love/

#Day12 “Love Is Eternal!”

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/04/12/day12-love-is-eternal/

You can read my BlogchatterA2Z posts here.

https://myaspiringhope.wordpress.com/2019/04/11/blogchattera2z-challenge-my-posts/