वक़्त का मोल

हर किसी के पास उतना ही वक़्त होता है,

समय का पहिया भी सबके लिए बराबर ही घूमता है,

और यहाँ तक कि सूरज का निकलना और अस्त होना भी सबके लिए एक समान ही होता है।

जब प्रकृति ने ही भेदभाव नहीं किया हमारे साथ, तो हम कैसे कर सकते है?

क्यूँ खुद को कम आँक कर खुद से ही धोखा कर सकते है?

क़ाबिल है सभी, बस अपनी क्षमताएँ पहचानने में देर कर देते है।

जो समझ जाते है अपनी अहमियत, वो फिर कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखते है।

वो फिर कभी पीछे मुड़ के नहीं देखते है।

~~दीपिका

23 thoughts on “वक़्त का मोल

  1. With so much of simplicity you conveyed a very important lesson. वक़्त ना तो किसी के लिए रुकता है और ना ही बदलता है। हमारी सोच हमें वक़्त के साथ ढलने में मदद करती हैं।

    Liked by 1 person

  2. You said it right dear and I agree time is most important asset in life and we all should try to utilize it upto maximum. Kyoki gaya hua samay kabhi Laut kar nahi aata

    Like

  3. Such beautiful & meaningful lines with an important message. One should value time if they really want to make a difference. The way we utilize our time makes us stand out. Very well written!

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.