सुकून की तलाश!

इस बड़ी सी दुनिया में अपने लिए एक छोटी सी जगह चाहती हूं।

जो दे दिल को सुकून और सपनों को दे उड़ान, वो ख़्वाब देखना चाहती हूं।

बहुत ज्यादा बड़ा ना सही, पर एक छोटा सा कोना सिर्फ अपने लिए चाहती हूँ।

जो खो ना जाएं भीड़ में, वो मुक़ाम खुद बनाना चाहती हूँ।

दिन भर की भाग दौड़ के बाद कुछ सुकून के पल अपने लिए भी चाहती हूं।

इस बड़ी सी दुनिया में, अपने लिए एक छोटी सी जगह चाहती हूं।

हो सकता है कि मेरी सुकून की परिभाषा कुछ और हो।

मेरा व्यक्त करने का तरीका और सलीक़ा औरों से अलग हो।

फिर भी चीरते हुए इस अंतर को मैं बराबरी के कुछ पल चाहती हूं।

इन ऊबड़ खाबड़ रस्तों पर कुछ सीधी साधी पगडंडी चाहती हूं।

दिन भर की भाग दौड़ के बाद कुछ सुकून के पल अपने लिए भी चाहती हूं।

इस बड़ी सी दुनिया में, अपनी एक छोटी सी जगह चाहती हूं।

जो दे दिल को सुकून और सपनों को दे उड़ान, वो ख़्वाब देखना चाहती हूं।

©® दीपिका

वक़्त जो रुकता नहीं।

https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/20/waqt-jo-rukta-nahi/

प्यार की ताक़त!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/18/pyar-ki-taakat/

माँ की जादूगरी!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/17/maa-ki-jaadugari/

नज़रिये का फेर!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/16/nazariye-ka-pher/

मन की सुंदरता!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/15/man-ki-sundarta/

लम्हे जो बीत गए है।https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/14/lamhe-jo-beet-gaye-hai/

बीते कल की परछाई!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/13/beete-kal-ki-parchaai/

जंग दिल और दिमाग की!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/11/jang-dil-aur-dimag-ki/

हज़ारों बहाने है जीने के!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/09/hazaro-bahane-hai-jeene-ke/

गमों के बादल!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/08/gamo-ke-baadal/

वो एक फ़रिश्ता!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/06/vo-ek-pharista/

इंसानियत कुछ खो सी गई है!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/06/insaaniyat-jo-kuch-kho-si-gayi-hai/

और भी दर्द है इस ज़माने में!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/04/aur-bhi-dard-hai-is-zamane-main/

चलो फिर से शुरू करते है।https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/03/chalo-phir-se-shuru-karte-hai/

बेमक़सद जीना भी कोई जीना है?https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/01/bemaksad-jina-bhi-koi-jina-hai/

अजीब दास्तां है ये!https://myaspiringhope.wordpress.com/2020/04/01/ajeeb-dastaan-hai-ye/

11 thoughts on “सुकून की तलाश!

  1. Lovely post
    एक सुकून की जगह
    एक मुट्ठी अपना आसमान
    बस इतनी ही तो है चाहत
    हो मेरा अपना एक मक़ाम

    Liked by 1 person

  2. Sach hai sukun ki hi talash mei har koi zindagi k josh ka karwan liye chala ja rha hai, bas isi ummed m ki manzil milegi jarur wo kona jaha haq hai mera Wo milega jarur!…..Dil ko chhu gayi ek ek line Deepika!

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.